July 5, 2022

sikar-shekhawati-smachar

ताजा ख़बरें | नौकरी | शिक्षा | व्यापार

शेखावाटी में जारी बिजली कटौती के बाद, आज से राजस्थान के 12 जिलों में भी शुरू होगी बिजली कटौती

शेखावाटी समाचार!!! आजकल शेखावाटी के ग्रामीण इलाकों में 6-8 घंटे बिजली कटौती आम बात हो गई है | राजस्थान में बिजली संकट को देखते हुए जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (JVVNL) या जयपुर डिस्कॉम ने आज शनिवार से सभी नगर पालिका क्षेत्रों में एक घंटे की बिजली कटौती और ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 4 घंटे बिजली कटौती की घोषणा की है| इन 12 जिलों , जयपुर, दौसा, अलवर, भरतपुर, धौलपुर, कोटा, बूंदी, बारां, झालावाड़, सवाईमाधोपुर, टोंक और करौली जिलें शामिल हैं | राजस्थान में थर्मल पावर स्टेशनों में कोयले की कमी के कारण बिजली उत्पादन में गिरावट को दूर करने के लिए अब बिजली कटौती का सहारा लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। ज्ञात हो की जिला मुख्यालयों में बिजली कटौती लागू नहीं होगी। एवीवीएनएल 55 लाख उपभोक्ताओं से भरी उपकरणों को नहीं चलाने और बिजली बचाने के लिए निवेदन कर रही है| अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने पहले से कटौती शुरू कर चुकी है |

डिस्कॉम एमडी भाटी ने बताया कि अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अब प्रतिदिन बिजली की कटौती की जाएगी। शहरी क्षेत्रों के तहत अजमेर जिले में प्रातः 7 से 9 सीकर में प्रातः 8 से 10, उदयपुर में प्रातः 8 से 10, झुंझुनू में प्रातः 9 से 11, नागौर में प्रातः 9 से 11, भीलवाड़ा में प्रातः 10 से 12, चित्तौड़गढ़ में सांय 3 से 5, बांसवाड़ा में सांय 3 से 5, राजसमंद में सांय 4 से 6, प्रतापगढ़ में सांय 4 से 6 तथा डूंगरपुर में सांय 4 से 6 तक बिजली की कटौती की जाएगी। इसके अतिरिक्त डिस्कॉम क्षेत्र के सभी ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिदिन 6 घंटो की बिजली कटौती संभावित है। इसके पीक आवर्स शाम को 6 से रात 10 बजे के बीच एक से दो घण्टे की कटौती होगी।

भाटी ने डिस्कॉम के सभी कार्यालयों में एयर कंडीशनर चलाने पर रोक के साथ ही विद्युत अपव्यय रोकने के कड़े निर्देश दिए है। उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिए कि बिजली संकट को देखते हुए अपने कार्यालयों में एयर कंडीशनर और अन्य उपकरण जिनमें ज्यादा बिजली की खपत होती है उन्हें बंद रखें। उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों से अपने घरों में भी एयर कंडीशनर और अन्य उपकरण बंद रखने की अपील की जिससे समाज के सामने एक बेहतरीन उदाहरण पेश हो सके। भाटी ने अन्य सरकारी विभागों एवं आमजन से भी इस संकट के बीच विद्युत के विवेकपूर्ण इस्तेमाल की अपील की।