May 17, 2022

sikar-shekhawati-smachar

ताजा ख़बरें | नौकरी | शिक्षा | व्यापार

राजस्थान में 10,157 कंप्यूटर शिक्षक की भर्ती लेकिन प्राइवेट आईटी सेक्टर में लगभग 1 लाख नौकरी की मांग

प्रदेश में लगभग दस हजार पदों पर होने वाली कम्प्यूटर शिक्षक और सूचना सहायक भर्ती से बेरोजगारों में एक आस जगी है। आईटी एक्सपर्ट की माने तो भारत में कंप्यूटर/इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में रोजगारों की कमी नहीं है लेकिन लगभग 20% इंजीनियरिंग छात्र ही नौकरी के लिए योग्य मिल पाते हैं |

जहाँ एक और राजस्थान 50 यूनिवर्सिटी के साथ भारत में पहले नंबर पर और टेक्निकल यूनिवर्सिटी के मामले में 11 यूनिवर्सिटी के साथ तीसरे स्थान हैं वहीं समय से साथ लगातार बदल रही आईटी इंडस्ट्री की जरूरतों के हिसाब से छात्रों को तैयार नहीं कर पाने की वजह से अब छात्र और अभिभावकों का विश्वास इंजीनियरिंग से अब कम होता जा रहा हैं, प्रदेश के 2678 इंजीनियरिंग कॉलेजों में पिछले सात सालों की प्रवेश प्रक्रिया की बात करें तो औसतन 40 से 50 फीसदी सीट खाली रही है। सूत्रों की माने तो इंजीनियरिंग कॉलेजों में हर साल 25 हजार और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में दस से बारह हजार सीट खाली रह रही हैं। छह सालों में 70 इंजीनियरिंग कॉलेज नामांकन शून्य घोषित कर चुके हैं। अब तक 55 इंजीनयरिंग कॉलेजों ने इस क्षेत्र से विद्यार्थियों के मोहभंग होने से कॉलेज में दूसरे BSC, BCA और डिफेन्स जैसे पाठ्यक्रम भी शुरू कर दिए हैं।

कोरोना काल में प्राइवेट आईटी सेक्टर से नौकरी में पिछले साल की तुलना में 163 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई हैं | कोरोना काल में लगभग 250,000 लोगों ने ऑनलाइन नयी कंप्यूटर स्किल्स सीखी हैं | इसकी के साथ राजस्थान में सरकारी काम भी अब ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन होता जा रहा हैं| सूत्रों के अनुसार राजस्थान में कंप्यूटर सॉफ्टवेर टेक्नोलॉजी में सरकारी नौकरी में अवसर अब बढ़ते जायेंगे| अभी लभग 17000 सरकारी और लगभग 1 लाख नौकरी प्राइवेट सेक्टर में आज की मांग है |

यहाँ है नौकरी

1. सूचना सहायक

प्रदेश के सरकारी कार्यालयों में भी कामकाज ऑनलाइन की तरफ बढऩे लगा है। ऐसे में अगले दो सालों में सात हजार से ज्यादा पदों पर और भर्ती होनी की संभावना है।

2. कम्प्यूटर शिक्षक

इंजीनियरिंग क्षेत्र के बेरोजगारों को कम्प्यूटर शिक्षक के पद सृजित कराने में लगभग दस साल का वक्त लग गया। अब पद सृजित होने पर लगातार भर्ती होने की संभावना है। दस हजार पदों की भर्ती पूरी होने के बाद अगले चरण में एक और भर्ती के आसार है।

3. प्राइवेट सेक्टर

आइटी एक्सपर्ट का कहना है कि आगामी एक साल में निजी क्षेत्र में सीएस ब्रांच के युवाओं को एक लाख से अधिक नौकरी अकेले राजस्थान में मिलने की संभावना है।